चुनावनेशनल न्यूज़राजनीतिस्टेट न्यूज़

Jharkhand में जदयू का ‘तीर’, शून्य पर आउट; 40 सीटों पर लड़ा था चुनाव

नीतीश की पार्टी जदयू ने झारखंड की 81 में से 40 सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे, सभी सीटों पर हारे.

Jharkhand Assembly Election Result Live 2019: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ‘तीर’ झारखंड के रण को नहीं भेद सका. सोमवार को आए झारखंड चुनाव परिणाम में नीतीश की पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) शून्य पर आउट हो गई. झारखंड में 40 सीटों पर चुनाव लड़ी जदयू को सभी सीटों पर मुंह की खानी पड़ी. ज्यादातर सीटों पर उम्मीदवारों की जमानत तक जब्त हो गई. मझगांव से मैदान में उतरे प्रदेश अध्यक्ष सलखन मुर्मु चुनाव हार गए. जमशेदपुर सीट पर नीतीश ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ चुनाव लड़ रहे सरयू राय को बाहरी समर्थन दिया था. जदयू ने वहां अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं किया. भाजपा से सरयू राय का टिकट कटने पर नीतीश ने आश्चर्य भी जताया था.

2014 में भी नहीं खुला था खाता

झारखंड में ऐसा पहली बार नहीं है जब जदयू ने अपने दम पर चुनाव लड़ा हो. 2014 के विधानसभा चुनाव में भी पार्टी ने अपने दम पर चुनाव लड़ा था लेकिन तब भी यहां पार्टी का खाता नहीं खुला था. राजनीतिक विश्लेषक बताते हैं कि झारखंड में चुनाव प्रचार के लिए नीतीश का नहीं जाना भी एक बड़ा फैक्टर रहा. अगर नीतीश वहां प्रचार के लिए जाते तब पार्टी का खाता खुल सकता था. पार्टी जिस तरह चुनाव मैदान में उतरी उससे ऐसा लगा कि टीम बिना कप्तान के मैदान में खेल रही हो.

झारखंड में घटती चली गई जदयू की ताकत

साल 2000 में बिहार से अलग होने के बाद झारखंड में जदयू का बेहतर प्रदर्शन रहा है. 2005 में हुए पहले विधानसभा चुनाव में पार्टी ने 18 सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे, जिसमें 6 सीटों पर जीत मिली थी. वोट प्रतिशत 4 फीसदी रहा. एनडीए सरकार में जदयू की हिस्सेदारी थी. हालांकि, 2009 में वोट प्रतिशत और सीटों में भी गिरावट आई. भाजपा के साथ गठबंधन में जदयू को 14 सीटें मिली, जिस पर मात्र 2 सीटों पर पार्टी जीत दर्ज कर सकी. वोट भी घटकर 4 से 2.78 प्रतिशत रह गया.

टैग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

संबंधित समाचार

Back to top button
Close
Close