चुनावनेशनल न्यूज़राजनीतिस्टेट न्यूज़

हेमंत सोरेन राज्यपाल से मिले, सरकार बनाने का दावा पेश किया; 29 दिसंबर को लेंगे शपथ

मंगलवार को विधायक दल का नेता चुनने के बाद कांग्रेस, झामुमो और राजद की संयुक्त बैठक हुई. हेमंत सोरेन को महागठबंधन का नेता चुना गया, कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम बने.

Jharkhand Assembly Election Results 2019: झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के विधायक दल की बैठक में हेमंत सोरेन को नेता चुना गया. शिबू सोरेन के निवास पर झामुमो के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हुई. हेमंत सोरेन के नेतृत्व में महागठबंधन के नेता और विधायकों ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात करके सरकार बनाने का दावा पेश किया. हेमंत सोरेन ने कहा- 29 दिसंबर को दोपहर 1 बजे शपथ ग्रहण होगा. महागठबंधन ने चुनाव से पहले ही हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर दिया था.

आलमगीर आलम कांग्रेस विधायक दल के नेता

इसी बीच कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई. आलमगीर आलम को कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना गया. इसी बीच हेमंत सोरेन ने झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी से मुलाकात की. झाविमो ने 3 सीटों पर जीत दर्ज की. हेमंत सोरेन को जेड प्लस सुरक्षा मुहैया करवाई गई है.

उम्‍मीद की जा रही है कि 29 दिसंबर को मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ कई मंत्री भी शपथ ले सकते हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के मंत्रीमंडल में झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस से पांच-पांच मंत्री होंगे. हेमंत सरकार में लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद से भी एक मंत्री को रखा जाना है. इससे पहले हेमंत सोरेन मंगलवार को झारखंड मुक्ति मोर्चा विधायक दल की बैठक में नेता चुने गए, इसके बाद राज्‍यपाल द्रौपदी मूर्म से मुलाकात कर उन्होंने सरकार बनाने का दावा पेश किया. मोरहाबादी मैदान में हेमंत सोरेन के शपथग्रहण समारोह की तैयारी शुरू कर दी गई है.

महागठबंधन को मिली 47 सीटें:

पार्टी सीटें
झामुमो 30
कांग्रेस 16
राजद 1

टैग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

संबंधित समाचार

Back to top button
Close
Close